प्रदेष में कृषि, ऊर्जा, मधुमक्खी पालन, लाख एवं रेषम उत्पादन हेतु अनेक तकनीकों का विकास हो रहा है । परन्तु इनसे संबंधित अनेक पारम्परिक तकनीक भी विद्यमान है । आज आवष्यकता, ऐसी तकनीक को पहचान कर इनका मूल्य संवर्द्धन कर व्यावसायिक उत्पादन करने की है, जिससे प्रदेष में इसका व्यावसायिक उत्पादन कर समाज के हित में उपयोग किया जा सके ।

उद्देश्य

नवीन प्रौद्योगिकी का विकास कर इसे किसानों, ग्रामवासियों एवं अन्य संबंधित क्षेत्रों में उपयोग के लिए पहुंचाना ।