मा. मंत्री - विज्ञान एव प्रौद्योगिकी

 

 

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में हुई प्रगति को प्रभावकारी ढंग से समाज के हित में उपयोग करना सफल एवं सतत् विकास की कुंजी है। म.प्र. शासन द्वारा म.प्र. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद् की स्थापना की गई है, जिसका मुख्य उद्देष्य प्रदेश का सामाजिक एवं आर्थिक विकास कर शहरी, ग्रामीण एवं सुदूर अंचलों में खुशहाली लाना है। विगत तीन दशकों से परिषद् द्वारा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के प्रचार-प्रसार एवं उपयोग के लिए अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिसका परिणाम ग्रामीण, आदिवासी क्षेत्रों सहित प्रदेश के सुदूर अंचलों एवं समाज के अंतिम छोर तक परिलक्षित हुआ है। परिषद् द्वारा कार्यान्वित योजनाएं ग्रामीण, कारीगर, खेतीहर, महिला, छात्र, शोधार्थी, शिक्षक आदि सभी के लिए है एवं इनके माध्यम से अधिक से अधिक लोगों में विज्ञान के प्रति रूचि जाग्रत करने का प्रयास रहा है। परिषद् की अनेकों ऐसी योजनाएं है जिन्हें राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार एवं प्रशसा प्राप्त हुई है। मुझे विष्वास है कि परिषद् की अभिनव योजनाओं के माध्यम से विज्ञान एवं तकनीकी का उपयोग करते हुए प्रदेश के विकास को गति मिल सकेगी।