पृष्ठभूमि

यह योजना प्रदेश के शिक्षाविदों, वैज्ञानिकों एवं शोध छात्रों को देश विदेश के उच्च कोटि के वैज्ञानिक विशेषज्ञों से संपर्क स्थापित करने, उनकी योग्यता एवं क्षमता में वृद्धि करने एवं उन्हें वैज्ञानिक अनुसंधान एवं विकास के क्षेत्र में सुद्ढ़ बनाने के उद्देश्य से आरंभ की गई हैं। परिषद् द्वारा सेमीनार, संगोष्ठी तथा कार्यशालाओं के आयोजन हेतु विभिन्न विषयों पर प्रस्ताव आमंत्रित किये जाते है।

उद्देश्य

सेमीनार, संगोष्ठी एवं वैज्ञानिक कार्यशालाओं के आयोजन से प्रदेश की वैज्ञानिक प्रतिभाओं को अपने शोध कार्य के प्रस्तुतीकरण तथा राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर के वैज्ञानिकों के साथ परिचर्चा कर वैज्ञानिक क्षमता का विकास करना इस योजना का मुख्य उद्देष्य हैं। इस वित्तीय वर्ष में लगभग 40 कार्यक्रमों का क्रियान्वयन किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।